चंदौली:विधि विधान से पूजी गयी आदिशक्ति मां शैलपुत्री

0
12

चंदौली। शारदीय नवरात्र के पहले दिन श्रद्घालुओं ने घरों व पंडालों में कलश स्थापित कर माता रानी की विधि विधान से पूजन अर्चन किया। वही जनपद के विभिन्न देवी मंदिरों में मत्था टेककर देश व परिवार के सुख शांति के लिए देवी माता से कामना किया। पहले दिन श्रद्घालुओं ने आदि शक्ति के प्रथमा स्वरुप मां शैलपुत्री का दर्शन कर विधिवत पूजा पाठ किया। नवरात्र के पहले दिन शनिवार को सुबह से बाजारों में नरियल, चुनरी, फल, फूल, माला आदि पूजन सामग्री की दुकाने सज गयी थी। जहां पर सामानों की खरीददारी के लिए लोगों की भीड़ जुटी रही। सुबह-सुबह स्नान ध्यान कर लोग उपवास रखकर देवी मंदिरों में जाकर माता रानी के चरणों में अपना मत्था टेका। इस दौरान भक्तों ने माता से देश व परिवार के सुख शांति के साथ मनवांछित फल की कामना किया। वही कुछ लोगों अपने घरों की साफ-सफाई कर कलश स्थापित कर पूजा पाठ किया। नवरात्र के पहले दिन होने के कारण पूजन सामग्री व फल, फूल में भी इजाफा देखा गया। चहनियां प्रतिनिधि के अनुसार नवरात्रि के पहले दिन बलुआ स्थित पश्चिम वाहिनी गंगा तट पर हजारो श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी । सुबह से लोग घाट पर स्नान दान कर मंदिरों में मत्था टेका । घरो में कलश रख माँ दुर्गा का आराधना किया ।जैसा कि हर पूजा पाठ में गंगा जल का महत्व है । शनिवार को नवरात्र के पहले दिन पूजा पाठ शुरू करने से पूर्व लोग ब्रत रखकर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी । यह सिलसिला शनिवार की भोर से ही शुरू हो गया । लोग स्नान दान कर गंगा जल घर लाकर माँ दुर्गा का पूजन अर्चन किया । इस बार पांडाल न बनने से लोग मंदिरों में माँ दुर्गा के दर्शन किये । मंदिरों में दर्शन कर घरो में कलश रखकर पूजा पाठ किये। सकलडीहा प्रतिनिधि के अनुसार शारदीय नवरात्र के पहले दिन कस्बा के मां आदि शक्ति दुर्गा मंदिर पर माता शैलपुत्री की झांकी सजायी गयी। इस दौरान दुर्गा पूजा सेवा समिति के सदस्यों द्वारा सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए आरती कराया गया। इस मौके पर व्रती महिलाओं ने विधि विधान से पूजा अर्चना और प्रसाद ग्रहण किया। कोरोना महामारी के कारण सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए पहले दिन मां शैलपुत्री की झांकी सजायी गयी। पुजारी और समिति के सदस्यों ने शाम को पट खुलने पर आरती व विधि विधान से पूजा अर्चना किया। इस मौके पर महिलाओं ने दर्शन पूजन के बाद प्रसाद ग्रहण किया। इस दौरान समिति के अध्यक्ष लालचंद सेठए पवन वर्माए नंदन सोनीए राजू जायसवाल सहित अन्य मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें