अलीगढ पत्रकारिता जगत के एक और भीष्म पितामाह नहीं रहे

0
16
मृतक सतीश कुलश्रेष्ठ का फाइल फोटो

अलीगढ। जिले के पत्रकारिता जगत के भीष्म पितामाह कहे जाने वाले वरिष्ठ पत्रकार सतीश कुलश्रेष्ठ हमारे बीच नहीं रहे। रविवार की सुबह उन्होंने दिल्ली के बत्रा हाॅस्पिटल में अंतिम सांस ली। उनके निधन पर पत्रकार जगत में शोक की लहर दौड गई और पत्रकारों ने बैठक कर उन्होंने श्रद्धांजलि देते हुए दो मिनट का मौन धरण किया।
वरिष्ठ पत्रकार सतीश कुलश्रेष्ठ ने प्रावदा, जनता युग से अपनी पारी की शुरूआत करते हुए अमर उजाला तक पहुंचे। वह 1990 में ब्यूरो चीपफ रहे, इसके बाद दैनिक जागरण नवंबर 1993 में सतीश कुलश्रेष्ठ के कुशल निर्देशन में पहला एडिशन निकला। जिसमें उन्होंने वरिष्ठ पत्राकार के साथ-साथ एजीएम की जिम्मेदारी भी निभाई। वर्ष 2007 से उन्होंने आकाशवाणी अलीगढ़ के लिए सेवाएं दी और 2007 से लगातार मंगलायतन विश्वविद्यालय में पत्रकारिता के प्रवत्तफा भी रहे। उनके दो बेटे आशीष, आयुष और बेटी आशिमा है। दोनों बेटों का विवाह हो चुका है। रविवार शाम उनका शव पंच नगरी काॅलोनी के मोक्षधाम में पंच तत्वों में विलीन हो गया। उनके निधन को लेकर रविवार शाम को आयोजित बैठक में सतीश कुलश्रेष्ठ को श्र(ांजलि दी। इस दौरान मान्यता प्राप्त पत्रकार समिति अध्यक्ष सुबोध सुहृर्द, महामंत्री आरपी शर्मा, पत्रकार कल्याण समिति अध्यक्ष प्रदीप सारस्वत, देवेंद्र वाष्र्णेय, सुंदर सिंह, मनोज गुप्ता, विनोद कुमार अकेला, वसीम खान, मुवीन खांन, तारिक हसन, हरीश बेताव, रंजीत सिंह, जेपी सिंह आदि मौजूद रहे।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेत्री रूही जुबैरी व डाॅ0 रक्षपाल सिंह ने भी शोक व्यक्त किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें