बिहार में बजा चुनावी बिगुल

0
12

28 अक्टूबर से तीन चरणों में होगा चुनाव, 10 नवम्बर को होगी मतगणना
कोरोना के कारण मतदान की समय सीमा एक घंटे बढ़ी, आखिरी घंटे में कोरोना मरीज करेंगे मतदान
राज्य में लागू हुई आदर्श चुनाव आचार संहिता

-आज समाचार सेवा-
नयी दिल्ली, 25 सितंबर। चुनाव आयोग ने बिहार में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। इस बार राज्य में तीन चरणों में चुनाव कराया जायेगा। पहले चरण में 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को, दूसरे चरण में 3 नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे चरण में 7 नवंबर को 78 सीटों पर मतादान होंगे। 10 नवंबर को मतगणना होगी और चुनाव परिणाम आयेंगे। इस दौरान कोरोना से बचाव के सभी दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जायेगा। यह कोरोना काल का पहला चुनाव होगा। चुनाव की घोषणा के साथ ही राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है।
आज एक संवाददाता सम्मेलन में मुख्य चुनाव आयुक्त ने बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की। उन्होनंे राज्य की सभी 243 विधानसभा सीटों पर तीन चरणों में चुनाव कराने का ऐलान किया। अरोड़ा ने बताया कि पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर को मतदान होंगे। दूसरे चरण का चुनाव 3 नवंबर को और तीसरे चरण का चुनाव 7 नवंबर को होगा। मतों की गिनती 10 नवंबर को होगी। बिहार विधानसभा का 29 नवंबर को कार्यकाल खत्म हो रहा है।
सुनील अरोड़ा ने बताया कि पहले चरण के मतदान के लिए 1 अक्टूबर को अधिसूचना जारी की जायेगी। इस चरण में राज्य के 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान होगा। दूसरे चरण में 17 जिले की 94 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। तीसरे चरण में राज्य की शेष सभी 78 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराये जायेंगे।
चुनाव आयोग ने बताया कि कोरोना काल में बिहार चुनाव के मद्देनजर काफी तैयारी की गई है। एक बूथ पर एक हजार मतदाता होंगे, पोलिंग बूथ पर मतदाताओं की संख्या घटाई गई है। कोरोना काल में सबसे बड़ा चुनाव है। 6 लाख पीपीई किट, 46 लाख मास्क का इस्तेमाल होगा। 6 लाख फेस शील्ड, 23 लाख दस्ताने, 47 लाख हैंड सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई है। 7 फरवरी 2020 को मतदाता सूची जारी की गयी।
आयोग ने बताया कि इस बार मतदान का समय बढ़ाया गया है। सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होंगे। कोरोना काल में नए सुरक्षा मानकों के साथ होंगे चुनाव। बिहार में मतदाता 7.79 करोड़ मतदाता है, इसमें महिला 3.39 करोड़ महिला मतदाता हैं। मतदान के अंतिम एक घंटे में कोरोना मरीज मतदान कर सकेंगे।
अरोड़ा ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था और त्यौहारों के देखते हुए 243 सदस्यों की राज्य विधानसभा के चुनाव कम चरणों में कराने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि मतदान की अवधि एक घंटा बढ़ाकर शाम 6 बजे तक कर दी गई है। अंतिम एक घंटा कोविड रोगियों के लिए रखा गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण जीवन के सभी पहलुओं में परिवर्तन हुए हैं। इसलिए राज्य विधानसभा के चुनाव भी नई सुरक्षा व्यवस्था के तहत कराये जायेंगे।
चुनाव आयोग ने बताया कि राजनीतिक दल के कार्यकर्ता घर-घर जाकर चुनाव प्रचार कर सकेंगे, हालांकि, उनकी संख्या पांच से ज्यादा नहीं होगी। उम्मीदवार को नामांकन के दौरान दो वाहन ही ले जाने की इजाजत होगी। नामांकन पत्र ऑनलाइन भी भरे जा सकते हैं। चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल माध्यम से ही होगा।
मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि मेडिकल काउंसलिंग कमेटी-एमसीसी के दिशा-निर्देशों का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए निर्वाचन आयोग ने व्यापक इंतजाम किए हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव के संबंध में सोशल मीडिया का दुरुपयोग करने वाले व्यक्तियों को कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा। आयोग ने स्पष्ट किया है कि मतदान के समय के बारे में कुछ राज्यों की आपत्तियों पर 29 सितंबर को चर्चा के बाद लोकसभा की एक और विधानसभा की 64 सीटों पर उपचुनाव के बारे में फैसला किया जायेगा।
समाप्त/संजय
अहम बिंदु
-चुनाव आयोग ने बिहार में विधानसभा चुनाव की तारीखों का किया ऐलान
-तीन चरण में होगा मतदान
-पहले चरण में 28 अक्टूबर, दूसरे में चरण में 3 नवंबर और तीसरे चरण में 7 नवंबर को होगा मतदान
-10 नवंबर को होगी मतगणना
-इस बार मतदान का समय बढ़ाया गया, सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होंगे मतदान
समाप्त…

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें