पटना: नीतीश ने किया सात निश्चय-2 का एलान

0
56
  • हर गांव में सिंचाई की सुविधा एवं सोलर स्ट्रीट लाइट लगेंगी
  • सुलभ स्वास्थ्य योजना के तहत मनुष्य एवं पशु दोनों का इलाज होगा
  • बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थल व मोक्ष धाम बनेगा
  • शहरी गरीबों के लिए महिला आवास का निर्माण होगा

(आज समाचार सेवा)

पटना। चुनाव तारीखों के एलान के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में सात निश्चय-२ का एलान किया। उन्होंने कहा कि अगर दुबारा मौका मिला तो वे सात निश्चय-२ को लागू करेंगे। चिराग पासवान के मसले पर उन्होंने साफ तौर पर स्पष्ट किया कि वे लोजपा से इस संबंध में कोई बात करने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि लोजपा के लोगों से बीजेपी वाले बात कर रहे होंगे उन्होंने कहा कि चुनाव तिथियों की घोषणा हो गयी और सीट बंटवारे में देर हो रही है। बहुत जल्द ही सीटों का एलान हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम तो एनडीए के लिए काम करते हैं। किसी एक पार्टी के लिए मिहनत नहीं करते हैं। जब उनसे पूछा गया कि हर चुनाव में दुल्हा आप होते हैं और बाराती बदल जाते हैं, तो नीतीश ने हाथ जोडक़र कहा कि इस पर कुछ नहीं बोलेंगे। वहीं उपेन्द्र कुशवाहा के एनडीए में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। जीतन राम मांझी एनडीए में आ गये हैं, वह भी बीजेपी के कहने पर। उपेन्द्र कुशवाहा के सवाल पर वे कुछ साफ-साफ बोलने से कतराते रहे।

श्री कुमार ने कहा कि महिला सशक्तिकरण को लेकर उनकी सरकार हमेशा काम करती रहेगी। सशक्त महिला तथा सक्षम महिला बनान की दिशा में उन्होंने १२वीं कक्षा पास छात्राओं को साइकिल देने का काम किया।

उन्होंने कहा कि अगर दुबारा उनकी सरकार बनती है, तो बिहार के हर गांव में सिंचाई तथा हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाया जाएगा साथ ही ठोस अपशिष्टï प्रबंधन की समुचित व्यवस्था की जाएगी। पशु एवं मत्स्य संसाधन को बढ़ावा देने के लिए सरकार विशेष कदम उठाएगी।

नीतीश कुमार ने कहा कि वृद्धजनों को उचित सम्मान देते हुए राज्य के हर शहर में आश्रय स्थल बनाये जाएंगे, ताकि उन्हें अपमान की जिंदगी नहीं जीना पड़े। इसी प्रकार शहरी गरीबों के लिए महिला आवास का निर्माण कराया जाएगा। राज्य के सभी नगर परिषद तथा नगर पंचायतों में मल्टी स्टोरेज बिल्डिंग बनवा कर उसमें महिलाओं को जगह दिया जाएगा।

इसी प्रकार उन्होंने कहा कि राज्य में सभी स्थानों पर विद्युत शवदाह गृहों के माध्यम से मोक्षधाम का निर्माण कराया जाएगा। राज्य के गांव-गांव में बेहतर सडक़ों का निर्माण कराया जाएगा। सडक़ों के ऊपर से बाइपास का निर्माण भी कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन सात योजनाओं मं एक योजना होगी सुलभ स्वास्थ्य योजना। इसके अंतर्गत चाहे मनुष्य हों अथवा पशु, सबके लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा होगी।

जब उनसे पूछा गया कि जीतन राम मांझी के आने के बाद क्या राम विलास पासवान की आवश्यकता नहीं, तब उन्होंने कहा कि ऐसी बात नहीं है, मै सभी की इज्जत करता हूं। सबकी सेवा करना मेरा धर्म है। पूरा बिहार मेरा परिवार है, जबकि कुछ लोगों के लिए उनका परिवार ही उनका परिवार है।

उन्होंने कहा कि अगर हमें काम करने का मौका मिला, तो हम अपना काम करेंगे। हम अपने निजी हित के लिए कोई काम नहीं करेंगे। अंत में उन्होंने कहा कि हमारे साथ जो है, हम सबका सम्मान करते हैं तथा जनता को ही हम मालिक मानते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें