जन चौपाल में समस्याओं को सुन गांव में किया निरक्षण,लगाई फटकार

0
60

सरसौल ( कानपुर) नर्वल तहसील के अन्तर्गत ग्राम करबिगवां में लगातार हो रही मौतों से प्रशासन हरकत में आया और रविवार को डी एम व सी एम ओ के साथ गांव का दौरा किया और स्कूल में चौपाल लगाकर ग्रामीणों से जन-संवाद के साथ ही गांव की गलियों में भ्रमण कर हकीकत परखी ।गांव में भ्रमण के दौरान गंदगी व जलभराव देख जिलाधिकारी भड़क गए।बीडीओ से नाराजगी दर्ज करा ग्राम पंचायत अधिकारी को जमकर फटकार लगाई।गांव में सफाई व्यवस्थाओं से नाखुश जिलाधिकारी ने संबंधित ग्राम पंचायत सचिव को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए। भ्रमण के समय ग्रामीणों को कोविड 19 के लिए जागरूक रहने का संदेश दिया साफ सफाई के साथ ही मास्क का प्रयोग हर हाल में करे ।
ज्ञातव्य है कि नर्वल तहसील के अन्तर्गत ग्राम करबिगवां में पहले कोरोना के 16 मरीज मिलने के बाद ही डेंगू के डबल अटैक से पिछले दिनों आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है गांव में लगातार मौतों से प्रशासन हलकान हो गया जिसके बाद रविवार को जिलाधिकारी आलोक तिवारी व सी एम ओ डा अनिल कुमार मिश्र के साथ गांव का दौरा किया सबसे पहले डी एम ने स्कूल में जन संवाद के तहत ग्रामीणों की समस्याओं को सुना ग्रामीणों ने दवा छिड़काव के नाम पर पानी का छिड़काव करने का आरोप लगाया कुछ ग्रामीणों का कहना था कि साफ सफाई भी नही हो रही है ग्रामीणों की शिकायत पर डी एम भडक गये और ग्रामीणों से साफ लहजे में कहा कि ये बीमारी सिर्फ तुम्हारे गांव में नही है इससे सभी लोग जुझ रहे है इसी लिए इस महामारी से निपटने के लिए सभी का सहयोग चाहिए । जन संवाद के दौरान ही स्वास्थ्य विभाग से आधा दर्जन लोगों की मौतों के बारे में पूछा जिसमें चिकित्सा अधीक्षक डा एस एल वर्मा ने डी एम को बताया कि गांव में अभी तक किसी की मौत डेंगू से नही हुई फिर भी तीन दिनो तक कैम्प लगा कर मेडिकल जांच की गई ।स्वास्थ्य विभाग ने तीन दिनों तक गांव में शिविर लगाकर लोगों की कोविड, मलेरिया व डेंगू आदि से संबंधित जांचें कर स्वास्थ्य परीक्षण किया था।बीमारियों से ग्रसित लोगों को दवाएं दी गई थीं।लेकिन जांच में किसी को भी डेंगू व कोविड की पुष्टि नहीं हुई थी।
चौपाल के दौरान ग्रामीणों ने डीएम से गांव में जगह -जगह गंदगी होने की शिकायत की तो डीएम हकीकत जानने को गांव की गलियों में पहुंच गए।गलियों के किनारे जगह -जगह जलभराव, नालियों में व गांव के अंदर बने तालाबों में गंदगी देख डीएम नाराज हो गए।पहले तो बीडीओ सौरभ बर्नवाल से नाराजगी जताई।बाद में लापरवाही पर ग्राम पंचायत सचिव अनिल शाक्य को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए।स्कूल की सरकारी जमीन पर कब्जे को देख डीएम ने एसडीएम नर्वल रिजवाना शाहिद से पिछले बीस वर्षों का रिकार्ड देख कर जांच के निर्देश दिए।लापरवाही पर लेखपाल के खिलाफ निलंबन की रिपोर्ट देने को कहा।जिलाधिकारी व सीएमओ ने ग्रामीणों को कोविड महामारी व अन्य संक्रामक बीमारियों से बचने के प्रति जागरूक किया।डोर टु डोर सर्वे के द्वारा लोगों की जांच करने व बाहर से आए लोगों की निगरानी के निर्देश दिए। जन चौपाल के समय जिला पंचायत सदस्य जीतेन्द सिंह उर्फ दीपू ठाकुर हरी हर सिंह आदि लोगो ने समस्याओं को बताया । ए डी ओ समाज कल्याण हर्ष वर्धन पाण्डेय सहित कर्मचारी मौजूद रहे ।।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें