पाकिस्तान की असेंबली अभिनंदन के जिक्र पर बोले वायुसेना चीफ, वायुसेना की ये थी तैयारी

0
10

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) की असेंबली में विंग कमांडर अभिनंदन (Abhinandan Varthaman) को लेकर हुए कई बातों से पाकिस्तान बेनकाव हो गया है। इससे पड़ोसी देश की पोल खुल गई है। दरअसल पाकिस्तान ने खुद दावा किया कि कैसे उसने डर के कारण अभिनंदन को छोड़ा था। अब इसी कबूलनामे पर भारतीय वायुसेना के पूर्व प्रमुख बीएस धनोआ (Birender Singh Dhanoa) ने प्रतिक्रिया दी और कहा कि मैंने अभिनंदन के पिता को वादा किया था कि हम उसे वापस लाएंगे।

हमें 1999 की घटना याद है जब पाकिस्तान ने अंतिम वक्त पर धोखा दिया था, इसलिए हम सतर्क थे। पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा कि मैंने अभिनंदन के पिता के साथ काम किया है। है। दरअसल जब बालाकोट एयरस्ट्राइक हुई थी, तब बीएस धनोआ ही वायुसेना के चीफ थे।

एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पर कूटनीतिक और रणनीतिक दबाव
पाकिस्तानी असेंबली में सांसद के कबूलनामे के बाद बीएस धनोआ ने कहा कि वो जिस तरह से बयान दे रहे हैं उसका कारण उस वक्त भारतीय वायुसेना की पोजिशन थी, जो अग्रेसिव थी। हम ऐसी स्थिति में थे कि उनकी पूरी ब्रिगेड को खत्म कर सकते थे और पाकिस्तान ये बात जानता था।

बीएस धनोआ ने आगे कहा कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पर कूटनीतिक और रणनीतिक तौर पर दबाव था और उन्हें मालूम था कि अगर लाइन क्रॉस की गई तो उसका अंजाम उन्हें भुगतना पड़ सकता है।

पुलवामा में आतंकी हमला
बता दें कि पुलवामा में फरवरी 2019 में आतंकी हमले के बाद भारत ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी। इसके अगले दिन पाकिस्तान ने अपने विमानों को भारत की ओर भेजा था, तब उन्हें खदेड़ते हुए विंग कमांडर अभिनंदन उस ओर गिर गए थे। लेकिन 48 घंटे के अंदर पाकिस्तान को उन्हें छोड़ना पड़ा था। उस घटना को अब पाकिस्तान की असेंबली में एक सदस्य ने स्वीकारा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें