कानपुर: बिकरू कांड का आखिरी आरोपी रामू बाजपेयी अरेस्ट, 50 हजार का था इनाम

0
70

कानपुर। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में नामजद आखिरी बदमाश भी पुलिस ने एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार कर लिया है। बदमाश रामू बाजपेयी पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था। रामू बाजपेयी लगभग दो महीना से फरार चल रहा था। बदमाश के पास से पुलिस ने बिकरू कांड में प्रयुक्त रायफल के साथ बड़ी मात्रा में कारतूस भी बरामद किया है।

रामू ने भी पुलिस पर बरसाईं थी गोलियां

कानपुर में चौबेपुर थानाक्षेत्र में बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने की गई पुलिस पर टीम पर हमला किया गया था। इस हमले में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पुलिसकर्मियों पर हमले के दौरान राम बाजपेयी भी गोलियां बरसा रहा था। इस घटना के बाद से राम बाजपेयी फरार चल रहा था। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार का इनाम रखा था।

पुलिस ने रामूू बाजपेयी को किया गिरफ्तार

पुलिस ने बदमाश रामू बाजपेयी को बाबा कुआं चौराहे के पास से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके पास एक रायफल और चार खोखे व एक कारतूस बरामद किया है। पुलिस टीम उससे घटना से जुड़े बिंदुओ पर पूछताछ कर रही है। विकास दुबे के गैंग के सदस्यों को इससे पहले भी गिरफ्तार कर चुकी पुलिस अब इनकी निशानदेही पर असलहे तथा अन्य सामान एकत्र कर रही है।

सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी हो गए थे शहीद

बता दें, दो जुलाई की रात को बिकरू गांव में विकास दुबे के घर दबिश देने पहुंची कानपुर पुलिस की टीम पर घात लगाकर बैठे गैंगस्टर और उसके गुर्गों ने हमला कर दिया था। इस हमले में सीओ देवेंद्र मिश्रा सहित आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसके बाद एसटीएफ ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए विकास दुबे सहित उसके पांच साथियों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया था। इस पूरे मामले में 26 से ज्यादा लोगों को जेल भेजा जा चुका है। विकास के सात साथी सरेंडर भी कर चुके हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें