बिहारशरीफ: छठ के दौरान दो दिनों में नालंदा में 5849 लोगों का हुआ कोविड जांच जिसमें 15 मिले संक्रमित

ठंड को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ा रखा है जांच का दायरा

0
25
  • नालंदा में अब तक 3 लाख 78 हजार लोग का हुआ है जांच जिसमें 7595 मिले है पॉजीटिव
  • नालंदा में कोविड एक्टिव केस की संख्या 90 और रिकवरी रेट 98.14

बिहारशरीफ (आससे)। जाड़े के दिनों में कोरोना का प्रकोप बढ़ने की संभावना को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने लगातार कोविड जांच का दायरा बढ़ाने का निर्देश दिया है। इस आलोक में नालंदा जिले में लगातार कोविड जांच चल रहा है। 20 नवंबर को जहां 2725 लोगों का कोविड जांच हुआ, वहीं 21 नवंबर को कुल 3124 लोगों का कोविड जांच किया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग ने नालंदा जिले को प्रतिदिन आरटीपीसीआर आइजीआइएमएस से कराने के लिए दो सौ तथा आरटीपीसीआर का विम्स में जांच कराने के लिए पांच सौ सैंपल भेजने का टारगेट फिक्स किया है। जबकि ट्रूनेट से प्रतिदिन 125 और रैपिड एंटीजन किट से प्रतिदिन 1500 सैंपल कम से कम जांच में लेना है। इसके विरुद्ध 20 नवंबर को जिले में आरटीपीसीआर से 729, ट्रूनेट से 65 और रैपिड एंटीजन किट से 1931 लोगों का कोविड जांच हुआ, जिसकी कुल संख्या 2725 थी। जांच रिपोर्ट में आरटीपीसीआर से आठ, ट्रूनेट से एक तथा एंटीजन किट से तीन सहित कुल 12 लोग संक्रमित पाये गये।

वहीं दूसरी ओर 21 नवंबर को आरटीपीसीआर से 697, ट्रूनेट से 66 तथा एंटीजन किट से 2361 सहित कुल 3124 सैंपल का जांच किया गया, जिसमें आरटीपीसीआर से एक, एंटीजन किट से दो सहित कुल तीन लोग संक्रमित पाये गये। कुल मिलाकर दो दिनों में छठ के दौरान 5849 लोगों का सैंपल कोविड जांच के लिए भेजा गया, जिसमें 15 लोग संक्रमित पाये गये।

जिला प्रशासन द्वारा जारी की गयी सूची के अनुसार 20 नवंबर तक नालंदा जिले में कुल 3 लाख 75 हजार 737 लोगों का सैंपल कोविड जांच के लिए भेजा गया, जिसमें 3208 लोगों का रिपोर्ट आना बाकी था। प्राप्त रिपोर्ट में 3 लाख 64 हजार 937 लोग निगेटिव पाये गये थे, जबकि 7592 लोग अब तक संक्रमित मिले है, जिसमें नालंदा जिले के लोगों की संख्या 7220 है, जबकि 372 दूसरे जिले के लोग है।

अच्छी बात यह है कि 7592 पॉजीटिव केस में 7451 केस रिकवर्ड हो चुके है। 40 लोगों की मौत हुई है। जिले में एक्टिव केस की संख्या 101 है, जिसमें नालंदा के 90 लोग है। इनमें से 80 लोग होम आइसोलेशन में है, जबकि पांच लोग इंस्टीच्यूशनल आइसोलेशन में है। 16 लोगों का एडमिशन पेंडिंग था जो संभवतः पूरा हो चुका होगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें