फिर से जन्म लू तो इसी घर में आऊं….

0
30

सुसाइड नोट लिख फंदे से झूली छात्रा
गांव में तय हुई शादी से नहीं थी खुश

बिधनू, १७ सितम्बर। बिधनू में छात्रा ने सुसाइट नोट में लिखा कि ‘भगवान फिर से मुझे इसी घर में जन्म देना। मैं गलत नहीं हूँ और न ही मेरी मौत के पीछे किसी का कोई दोष है। मझावन गांव में सिक्योरिटी गार्ड की बेटी ने फांसी लगाकर आˆमहत्या कर ली। वह कुछ दिन पहले तय हुई शादी से संतुष्ट नहीं थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।
बिधनू के मझावन गांव निवासी राजेंद्र द्विवेदी एक कंपनी में सि€योरिटी गार्ड हैं। कुछ दिन पहले उ‹होंने बेटी अंकिता (२४) की शादी गांव में ही तय की थी। अंकिता इस शादी से खुश नहीं थी। बुधवार शाम पिता ड्यूटी पर गए थे और मां ममता अपने मायके ईश्वरीगंज गयी हुई थी। देर रात अंकिता ने कुर्सी पर चढक़र आंगन के जंगले से दुपट्टे का फंदा बना फांसी लगा ली। गुरुवार सुबह भाई अंकुर की नींद खुली तो उसने बहन का शव फंदे से लटका देखा तो चीख पड़ा। शोर सुनकर बाहर सो रहे बाबा काली प्रसाद और दादी उर्मिला जाग गये। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने शव नीचे उतारा तो अंकिता के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला। जिसमें उसने लिखा कि वह गलत नहीं है। साथ ही उसने यह भी लिखा कि वह अपनी मर्जी से आˆमहत्या कर रही है इसमें किसी का कोई दोष नहीं है। अंत में उसने भगवान से इसी घर में फिर से जन्म देने की बात लिखी। थाना प्रभारी पुष्पराज सिंह ने बताया कि युवती के तय हुई शादी से कम खुश होने की बात सामने आई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें