चंदौली: ग्रामीण अंचलों में भी धूमधाम से मना छठ पूजा का पर्व

0
29

इलिया। परिवार के सुख शांति के लिए महिलाओं ने शनिवार को उगते सूर्य को अघ्र्य दिया तथा पूजन अर्चन कर परिवार के सुख. शांति व समृद्धि की कामना की। भोर से ही घाटों पर लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। महिलाओं ने सूर्यदेव की उपासना के बाद पानी पीकर 36 घंटे का निर्जला उपवास तोड़ा। छठ पर कस्बा सहित बेन, तियरी, बरियारपुर, खखड़ा, रोहाखी, बसाढ़ी, उसरी, बरहुआ, सुल्तानपुर, मनकपड़ा आदि गांवों के तालाबों में प्रात:व्रती महिलाओं ने कमर भर पानी में खड़ा होकर उदयागामी सूर्य को अघ्र्य दिया। व्रती महिलाएं परिजनों के साथ दौरे में प्रसाद लेकर घाटों और तालाबों तक पहुंची। पोखरा तथा तालाबों पर भारी भीड़ रही। तथा चारों तरफ छठ मैया के गीत से पूरा इलाका गुलजार रहा। पर्व समाप्त होते ही प्रसाद लेने वालों की भीड़ लगी रही। सुरक्षा की दृष्टि से छठ पूजा के लिए गांव में बनी समिति के कार्यकर्ता के साथ ही पुलिस व्यवस्था भी चाक.चौबंद रही। नौगढ़ प्रतिनिधि के अनुसार लोक आस्था का महापर्व डाला छठ की पुर्णाहुति ऋ षिकेश पंचांग के अनुसार शनिवर को अलसुबह सुबह 6 बजकर 49 मिनट पर उदीयमान भगवान सुर्य को गाय का दूध अर्पण कर व्रतियो ने सविधि पूजन अर्चन करके व्रत का समापन किया। चकिया प्रतिनिधि के अनुसार स्थानीय नगर स्थित मां काली मंदिर सहित ग्रामीण अंचल के सरोवर पर आस्था का सैलाब सूर्य उपासना के चार दिवसीय महापर्व के अंतिम दिन शनिवार की भोर में उमड़ पड़ा। श्रद्धा भाव से महिलाओं ने उगते सूर्य को अघ्र्य दिया। तड़के सुबह घाट स्ट्रीट लाइट से जगमग रहा । छठ गीत गाती हुजूम के साथ भोर में पहुंची व्रती महिलाएं सरोवर में कमर भर पानी के बीच पहुंच उदयीमान सूर्य के इंतजार में पूजन करने लगी। जैसे सूर्य की लालिमा दिखी आस्थावान जयकारे लगाते हुए अघ्र्य देना शुरू कर दिए। लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया । सिकंदरपुर व शिकारगंज में ऐतिहासिक पोखरे पर परंपरागत ढंग से व्रती महिलाओं ने छठ पूजन की। मुजफ्फरपुर सहित आदि गांवों के पोखरा एवं तालाबों में प्रातरूव्रती महिलाओं ने कमर भर पानी में खड़ा होकर उदयागामी सूर्य को अघ्र्य दिया। कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाए आदि गीतों से घाट गुलजार रहे। इस दौरान पोखरा तथा तालाबों पर भारी भीड़ रही। तथा चारों तरफ छठ मैया के गीत से पूरा इलाका गुलजार रहा। पर्व समाप्त होने होते ही प्रसाद लेने वालों की भीड़ लगी रही। सुरक्षा की दृष्टि से छठ पूजा के लिए गांव के चौकीदार सहित पुलिस मुस्तैद रही। नियामताबाद प्रतिनिधि के अनुसार ग्राम सभा सरने के जुधरी तालाब पर भी व्रती महिलाओं ने उगते हुए सूर्य को अघ्र्य देकर छठ माता से परिवार के सुख शांति व समृद्घि की कामना किया। वही छठ पर्व पर जागृति युवा मंच के तत्वाधान में पूर्व वषोॅ कि भातीं समाजिक दूरी का पालन कराते हुए छठ पूजा का आयोजन किया गया। समिति के कार्यकर्ताओं ने घाट व तालाब की साफ़ सफाई एवं घाट पर लाईटींग व सजावट आदि कराई गई थी। कार्यक्रम को सम्पन्न कराने में जागृति युवा मंच के संस्थापक सुनील दत्त तिवारी, बबलू गुरु के मार्ग दर्शन, अरूण कुमार तिवारी, रिंकू तिवारी, किशून प्रजापति, दिलिप विश्वकर्मा, रामदुलारे आशु विश्वकर्मा, राजन गौंड़, जितेंद्र गुप्ताए आदि नें विशेष सहयोग प्रदान किया मंच के संरक्षक मृत्युंजय तिवारी ने कार्यक्रम में सहयोगी कार्यकर्ताओं को अपना आशीर्वाद व आभार व्यक्त करते हुए कोटि कोटि धन्यवाद दिया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें