कंगना ने अब नेपोटिज्म को लेकर उद्धव ठाकरे पर बोला हमला, कहा- मैं एक ‘सेल्फ मेड वुमन’ हूं जबकि आप…’

0
26

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर हमला बोला.

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर हमला बोला. वीडियो जारी करने के साथ-साथ कंगना ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा. अभिनेत्री ने आरोप लगाया कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने रविवार को हुई शिवसेना (Shiv Sena) की दशहरा रैली में उनके लिए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया. 

मुख्यमंत्री को नेपोटिज्म का जीता जागता उदाहरण बताते हुए कंगना ने ट्वीट किया, ‘संजय राउत ने मुझे हरामखोर कहा था, अब उद्धव ने मुझे नमक हराम कहा है, वह दावा कर रहे हैं कि मुझे मेरे राज्य में भोजन नहीं मिलता, अगर मुंबई ने मुझे शरण नहीं दी होती. आपको शर्म आनी चाहिए, मैं आपके बेटे की उम्र की हूं. आप एक ‘सेल्फ मेड’ महिला से कैसे बात करते हैं, मुख्यमंत्री आप भाई-भतीजावाद के जीते जागते उदाहरण हैं.’

फिल्म निर्माता करण जौहर के चैट शो में कंगना ने इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद की बहस शुरू की थी. इस बार उन्होंने यह कहते हुए सीएम उद्धव ठाकरे पर हमला बोला कि वह एक ‘सेल्फ मेड वुमन’ हैं और अपने पिता के पैसे से नहीं जी रही हैं.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘मुख्यमंत्री मैं अपने पिता की सत्ते और आपके जैसे धन के नशे में नहीं हूं. अगर मैं एक भाई-भतीजावाद का उदाहरण बनना चाहती तो मैं हिमाचल में रह सकती थी. मैं एक समृद्ध परिवार से आती हूं. मैं उनकी दौलत और एहसानों के तले नहीं जीना चाहती थी.’ कुछ लोगों में स्वाभिमान होता है.

इससे पहले रविवार को उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) पर दशहरा रैली में हमला बोला था. उद्धव ने कहा था, ‘न्याय के लिए चिल्लाने वालों ने मुंबई पुलिस पर आरोप लगाए. मुंबई को पीओके बताया. ऐसी तस्वीर पेश कर रहे हैं जैसे हर जगह ड्रग एडिक्ट हैं. हम गांजा नहीं तुलसी उगाते हैं. गांजे के खेत आपके राज्य में हैं.’ इसे लेकर भी कंगना ने पलटवार किया था.

कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा था, ‘आपको अपने आप पर शर्म आना चाहिए मुख्यमंत्री जी. नागरिकों का सेवक होने के नाते आपने नीच लड़ाई को जन्म दिया है. आपसे जो लोग सहमत नहीं है उसके लिए आपने अपने शक्ति का बेजा इस्तेमाल कर उनका अपमान किया है. आपने जनता की प्रतिष्ठा को क्षति पहुंचाई है. आप इस कुर्सी के लायक नहीं है, जिसे आपने घिनौनी राजनीति कर हासिल की है. आपको शर्म आनी चाहिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें