हाथरस कांड: मथुरा में ED की PFI के संदिग्धों से घंटों पूछताछ, आरोपी मसूद के बारे में मिली अहम जानकारी

0
19

मथुरा. प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम ने बुधवार को मथुरा की अस्थायी जेल में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के कथित सदस्यों से साढ़े 5 घंटे तक पूछताछ की. इन्हें पिछले दिनों हाथरस कांड (Hathras Case) के बाद वहां जाते हुए टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया था. ईडी की ये पूछताछ हाथरस कांड में विदेशों से फंडिंग की आशंका को देखते हुए हुई है. सूत्रों की मानें तो ईडी ने पीएफआई के इन सदस्यों से अलग-अलग पूछताछ की.

दिल्ली दंगों में भी मसूद की भूमिका की जानकारी मिली: ईडी सूत्र

ईडी सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार आरोपी मसूद ने संगठन के एकाउंट से रक़म हासिल की. नई दिल्ली में हुए दंगों में भी मसूद की भूमिका की जानकारी मिली है. मसूद मूल रूप से यूपी के बहराइच का रहने वाला है.

ईडी ने पीएफआई सदस्यों से वेबसाइट के जरिए हुई करोड़ों रुपए की फंडिंग के मामले में पूछताछ की और उसके बाद सभी लोगों के बयानों को क्रॉस चेक कर मिलान किया गया. बताया जा रहा है कि ईडी की टीम को पूछताछ के दौरान कई अहम जानकारी हाथ लगी है, जिससे जांच आगे बढ़ेगी और कई नाम उजागर हो सकते हैं. गिरफ्तार लोगों में केरल के मलप्पुरम के सिद्दीकी कप्पन, मुजफ्फरनगर के अतीक-उर-रहमान, बहराइच के मसूद अहमद और रामपुर के आलम हैं.

यमुना एक्सप्रेसवे से गिरफ्तार
करीब 5 घंटे तक चली पूछताछ में ईडी अधिकारी मीडिया से बचते नजर आए. मीडिया द्वारा ईडी के अधिकारियों से मामले की जानकारी मांगी तो उन्होंने सिर्फ जांच की बात कहकर सवालों को टाल दिया. अब देखना होगा कि जांच का दायरा कितना और बढ़ता है? साथ ही इसमें किन-किन लोगों के नाम सामने आते हैं. आपको बता दें कि हाथरस जाते समय यमुना एक्सप्रेसवे से मांट थाना पुलिस ने पीएफआई के 4 सदस्यों को गिरफ्तार किया था, जिनके कब्जे से आपत्तिजनक सामग्रियां भी बरामद हुई थीं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें