चंदौली: गाय माता की पूजा करने से मन को मिलती है शांति-वीरेन्द्र

0
17

सैयदराजा। गोपाष्टमी पर्व पर रविवार की पूर्वाह्न वार्ड नम्बर 12 स्थित पानी टंकी पर पशुओं के लिए बनाये गये गौशाला पर चेयरमैन वीरेन्द्र जायसवाल व अधिशासी अधिकारी धीरज कुमार सिंह पहुंचकर गायों व बछङों को माला पहनाकर धूप अगरबत्ती दिखाकर अपने हाथों से पूजा अर्चना किया चेयरमैन विरेंद्र जायसवाल ने बताया कि हमारे हिन्दू धर्म में गाय को माता कहा जाता है इनकी पूजा अर्चना करने से मन शान्त रहता है और जो भी मुरादें मांगे वह मुराद पूरी होती है। गौ सेवा करने का अवसर मिलने पर जीवन धन्य हो जाता है। जहाँ पर गाय माता का प्रवास होता है वहाँ पर देवी देवताओ की छाया बनी रहती है। अमृतरूपी दूध की उपयोगिता मानव शरीर के लिए होने के साथ ही गौ मूत्र तथा गोबर की विशेषताओं पर प्रकाश डाला गया। ई ओ धीरज कुमार सिंह ने कहा कि हमारे हिन्दू धर्म में गाय को माता की उपाधि दी है। उन्होंने पूजा अर्चना कर गाय व बछङों को अपने हाथों से भोजन कराकर आशीर्वाद लिया। इस दौरान पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 पशु विनोद कुमार यादव, अरूण मौर्या, अनिल चौरसिया, महेन्द्र राय, राजकुमार सहित नगर पंचायत कर्मचारी मौजूद रहे। चकिया प्रतिनिधि के अनुसार स्थानीय नगर पंचायत स्थित वार्ड नंबर 7 सिविल लाईन पश्चिमी में स्थित ब्लाक कार्यालय में नगर पंचायत द्वारा बने गोवंश आश्रय स्थल समेत ग्रामीण अंचलों में स्थापित गोआश्रय स्थलो पर गोपाष्टमी पर्व रविवार को मनाया गया। इस अवसर प्रशासनिक अधिकारियों व जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में गो पूजन किया गया। नगर स्थित राजकीय पशु चिकित्सालय प्रांगण में स्थापित पशु आश्रय केंद्र पर गोपाष्टमी के विशेष आयोजन में उप जिलाधिकारी अजय मिश्र, जिला पंचायत सदस्य प्रदीप सिंह मौर्य ने विधि विधान से पूजन अर्चन किया। पशु चिकित्सक डा० आपी भारती, नियाजुद्दीन वारसी, गोपाल सिंह, राजनाथ सिंह, गुलाब मौर्य, मुकेश श्रीवास्तव, प्रकाश विश्वकर्मा सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे। वहीं फिरोजपुरए भीषमपुर गांव स्थित पशु आश्रय केंद्र पर तहसीलदार फूलचंद, ग्राम प्रधान बब्बन सिंह यादवए अरविंद गुप्ता आदि लोग मौजूद थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें