छठ पूजन को सशर्त अनुमति

0
12

कोविड प्रोटोकॉल की अनिवार्यता, बच्चे -बूढ़े प्रतिबंधित

  • माइक-मेला, सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं
  • नाव पर पांच से …ज्यादा नहीं बैठेंंगे
  • निर्णय में देरी पर विधायक नाराज
  • २०० से …ज्यादा लोग जमा नहीं होंगे
    कानपुर, १७ नवंबर। छठ पूजन को लेकर असमंजस की स्थिति मंगलवार को समाप्त हो गई। प्रशासन द्वारा पूजन के तीन दिन पहले दी गई अनुमति में कोविड प्रोटोकॉल की सभी शर्तें जोड़ी गईं। माइक, मेला व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ बच्चे व बुजुर्गों को पूजास्थल पर आने को प्रतिबंधित किया गया है। वहीं प्रशासन ने पूजन के दौरान नहर में डूबने से बचाने के भी उपाय किए हैं। इससे पहले भी पूजन की परमीशन लेने गए जिम्मेदारों को निराश होना पड़ा था। अनुमति को लेकर संशय के बादल लगातार छाये रहे। विधायक सुरेंद्र मैथानी ने छठ पूजा हर हाल में होने का ऐलान करते हुए निर्णय में देरी पर एडीएम से नाराजगी जताई। मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में छठ पूजा को लेकर हुई बैठक में एडीएम सिटी व एसपी साउथ, सिटी मजिस्ट्रेट, सभी एसीएम, अपर नगर आयुक्त, सारे सीओ एवं छठ पूजा से संबंधित पदाधिकारी मौजूद रहे। एडीएम सिटी ने कहा कि छठ पूजा होगी लेकिन 2 गज की दूरी मास्क लगाकर सैनिटाइजर का प्रयोग जरूरी होगा। 10 साल से कम उम्र के ब‘चे व 65 साल के बुजुर्ग नहीं आएंगे। 200 लोग तक पूजा के लिए आ सकते हैं और किसी भी प्रकार का माइक, मेला व सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा। ज्यादा भीड़ न करने की सलाह दी देते हुए कहा कि हो सके तो अपने घर में ही यह पूजा करें। बैठक में प्रमुख रूप से हृदयेष पाठक , कपिल देव सिंह, अधिवक्ता चंद्र मोहन मिश्रा , आकाश पांडे, धर्मेंद्र सिंह, रवि यादव व देवेंद्र सिंह राठौर आदि मौजूद थे। गोविंद नगर क्षेत्र के विधायक सुरे‹द्र मैथानी ने आगामी छठ पूजन हेतु पूर्व में 12 नवंबर को अपने द्वारा दिये गए पत्र का जिक्र करते हुए एडीएम सिटी से निर्णय में देरी पर नाराजगी व्यक्त की। उ‹होंने पत्र व टेलीफोनिक वार्ता में एडीएम से घाटों की सफाई, मार्ग प्रकाश, सुरक्षा आदि व्यवस्था में कोताही न रखने को कहा। विधायक ने नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी से भी व्यवस्था पर वार्ता की। बैठक में अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार ने तैयारियों के संबंध में कहा कि समस्त घाटों की सफाई करा दी जाए। इसके लिए नगर निगम अपनी टीमें गठित कर अभियान चलाकर घाटों की सफाई कराने का कार्य करें। जिन स्थानों में छठ पूजा होनी है वहां यदि स्ट्रीट लाइट खराब है तो मरम्मत कराया जाए। प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। छठ पूजा स्थलों में सुगम यातायात हेतु पार्किंग व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसके लिए एसपी ट्रैफि क रूट डायवर्जन का अनुपालन सुनिश्चित करें। पार्किंग स्थल का चयन कर वाहनों के पार्किंग का भी Œलान बनाए। बैठक में कहा कि 9 अ€टूबर के शासनादेश का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। नाव में 5 से अधिक लोग न बैठें। गहरे पानी की जगह पर सूचक लगाया जाए। उम्रदराज लोग घर से ही पूजन करें। बैठक में सिटी मजिस्ट्रेट व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें