बिहारशरीफ: पावापुरी के पास पेट्रोल पंप के मालिक व पूर्व विधान पार्षद के भतीजे की गोली मारकर हत्या

पंप के पास स्थित होटल का करा रहे थे रेनोवेशन इसी बीच नकाबपोश अपराधियों ने मारी तीन गोली

0
302
  • घटना के विरोध में पावापुरी के पास घंटों एनएच जाम
  • एसपी ने कहा अपराधियों की होगी शीघ्र गिरफ़्तारी

बिहारशरीफ (नालंदा)। रविवार को अपराधियों ने दिनदहाड़े एनएच 20 स्थित पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के घर के ग्राउंड फ्लोर स्थित बन रहे होटल में पूर्व विधान पार्षद के भतीजे को गोलियों से छलनी कर दिया। घटना के बाद अपराधी गोली चलाते हुए फरार हो गए। घायल को इलाज के लिए पटना ले जाया गया जहां तारा नर्सिंग होम में पहुंचने पर मृत्यु की पुष्टि की गयी। मृतक सीपीडब्लूडी का ठेकेदार तथा एनएच 20 स्थित पेट्रोल पंप का मालिक दिनेश सिंह थे। घटना के कारणों की सही जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी है, लेकिन घटना की सूचना पाकर नालंदा के पुलिस अधीक्षक स्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात में लगे है। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने पावापुरी मोड़ के पास एनएच 20 को जाम कर दिया। खास बात यह है कि घटना स्थल से पावापुरी ओपी की दूरी महज कुछ सौ गज है।

घटना अपराह्न की है। बताया जाता है कि दिनेश सिंह नामक व्यवसायी अपने पेट्रोल पंप के पास अपने पुराने रैनबसेरा होटल का रीमॉडलिंग करवा रहे थे। इसी दौरान दो अपाचे मोटरसाइकिल से चार लोग सड़क के दूसरे किनारे पर पहुंचे। हेलमेट और मास्क लगाये दो युवक रोड क्रॉस कर होटल पहुंचे। बताया जाता है कि इस दौरान दिनेश सिंह से हल्की बात हुई और इसी बीच अपराधियों ने गोली चला दी, जिससे वो घायल हो गये। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो वे उसे पकड़ने के लिए आगे बढ़े लेकिन तब तक अपराधियों ने दो गोली और चलायी और रोड क्रॉस कर बाइक पर जा बैठा। हालांकि इस दौरान दूसरे साइड से कुछ लोगों ने अपराधियों की ओर दौड़ लगायी, लेकिन इसी बीच अपराधी फायरिंग किया और लोग रूक गये। पहले से स्टार्ट दोनों बाइकों पर अपराधी बैठे और बिहारशरीफ की ओर निकल भागे।

घायल को उनके पुत्र तथा सगे-संबंधी वाहन में लेकर सदर अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए पटना ले जाने की सलाह दी। बताया जाता है कि पटना ले जाने के क्रम में दनियावां में काफी देर तक घायल का वाहन फंसा रहा। घायल को लेकर लोग तारा नर्सिंग होम पहुंचे, लेकिन वहां चिकित्सकों ने दिनेश सिंह को मृत घोषित कर दिया। समाचार प्रेषण तक शव को लाया नहीं जा सका था।

घटना के कारणों की सही जानकारी नहीं मिल सकी है, लेकिन चर्चा यह है कि स्थानीय कोई विवाद नहीं है। मृतक पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के भतीजा थे, जो पटना में रहकर सीपीडब्लूडी में ठेकेदारी करते थे। उनका पैतृक घर पेट्रोल पंप एवं रैनबसेरा होटल के समीप स्थित पोखरपुर गांव है। बताया जाता है कि पिछले कई दिनों से वे लगातार गांव पर ही थे और पेट्रोल पंप स्थित बंद पड़े होटल को रीमॉडलिंग कर चालू करने की तैयारी में थे।

घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने एनएच 20 को जाम कर दिया। घंटों जाम लगी रही। बाद में पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार की पहल पर परिवार के और सदस्यों से बात हुई और जाम को हटाया जा सका। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार ने कहा कि पुलिस की अनुसंधान जारी है। उन्होंने बताया कि अपराधी नकाबपोश थे लेकिन अनुसंधान में जो बातें सामने आयी है उसके अनुसार अपराधियों की पहली गोली दिनेश सिंह के पैर में लगी, जिसके बाद अपराधी को पकड़ने के लिए जब वो दौड़े तो अपराधियों ने दो और गोली चलायी, जो शरीर के अन्य हिस्से में लगी। उन्होंने कहा कि जल्द हीं पुलिस अपराधियों तक पहुंच पायेगी। हर संभावनाओं को देखते हुए पुलिस की अनुसंधान जारी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें