कोरोना के दिशानिर्देशों का पूरी तरह पालन करते हुये सपा दिल्ली प्रदेश ने मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन सादगी से मनाया

0
33

-आज समाचार सेवा-
नई दिल्ली, 22 नवंबर। कोरोना से जुड़े सभी दिशानिर्देशों का पूरी तरह पालन करते हुये समाजवादी पार्टी दिल्ली प्रदेश ने पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव का 82वां जन्मदिन सादगी के साथ मनाया।
इस अवसर पर जंतर-मंतर पर आयोजित कार्यक्रम में सपा दिल्ली प्रदेश की पूर्व अध्यक्ष उषा यादव और पूर्व प्रधान महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता आरएस यादव सहित कई कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव के स्वस्थ एवं लंबी उम्र की कामना की और उनके दिखाये रास्ते पर चलकर दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश में पार्टी को सत्ता में लाने का संकल्प लिया।
कार्यकर्ताओं दिये गये अपने संदेश में उषा यादव ने कहा कि आज का दिन उन ताकतों के खिलाफ संघर्ष को तेज करने के लिये संकल्प लेने का दिन है जो समाज को साम्प्रदायिकता, जाति और धर्म के आधार पर बांटकर पूंजीपतियों और उच्च वर्ग के लोगों के साथ गठजोड़ करके दिल्ली प्रदेश और देश की सत्ता पर काबिज हैं।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये आरएस यादव ने कहा कि आजादी के पहले और उसके बाद से ही समाजवादी विचारधारा के लोग उन 5 फीसदी ताकतों के साथ संघर्ष कर रहे हैं, जो एक साजिश के तहत अपने स्वार्थ के लिये देश की 95 फीसदी आबादी का शोषण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आबादी का बड़ा हिस्सा अभी भी नारकीय जीवन जीने को अभिशप्त है। इसके पीछे यही ताकतें जिम्मेददार हैं। आज पूरी दिल्ली कोरोना महामारी की तीसरी लहर झेल रही है। ऊपर से प्रदूषण की मार। बुजुर्ग और बच्चे इसकी वजह से बेमौत मरने को मजबूर हैं। इस दयनीय स्थिति के लिये सत्ता में बैठे आम आदमी पार्टी और भाजपा के लोग सीधे-सीधे जिम्मेदार हैं।
आरएस यादव ने कहा कि देश को आजाद हुए 73 साल हो गये। नेताजी की भविष्यवाणी बिलकुल सही साबित हो रही है। पहले जो लुटेरे थे वे आज और अधिक मजबूत हो गये हैं। गरीब जनता पहले भी अधिक गरीब हुई है। लुटेरों के लिये देश में कोई नियम-कानून नहीं है। ये पैसा लूटकर बड़ी आसानी से विदेश में भी बस जाते हैं। वहीं, गरीब जनता अपने देश ही तिल-तिल मरने को मजबूर है। गरीब कर्ज नहीं दे पाता है तो उसके जमीन-जायदाद की कुर्की की जाती है, लेकिन अमीर का कर्ज सरकार माफ कर देती है।
उन्होंने ने कहा कि आज दिल्ली और देश के शासनतंत्र पर काबिज हैं। मेरा सीधा-सीधा आरोप है कि आम आदमी पार्टी और भाजपा के लोग आपस में मिले हुए हैं। ये दोनों दल जनता को भ्रमित करने के लिये आपस में नूराकुश्ती कर रहे हैं। मैं इस आरोप को तथ्यों के साबित कर सकता हूं। आम आदमी पार्टी मुफ्त बिजली-पानी का ढोल पीट रही है, लेकिन फेस मास्क नहीं लगाने के नाम पर आम आदमी से ही 2 हजार रुपये की वसूली में जुटी हुई है।
आरएस यादव ने कहा कि साम्प्रदायिक और प्रतिक्रियावादी ताकतों के हाथ में सत्ता चली जाने के कारण इस समय देश के हालात और अधिक खराब हो गये हैं। हम गांव-गरीब-किसान-नौजवान और महिलाओं के हक की लड़ाई लड़ने वाले लोग हैं। नेताजी के दिखाये रास्ते अनुरूप समाजवादी पार्टी ने हमेशा इन लोगों की आवाज को बुलंद किया है। कोरोना से निपटने के लिये भाजपा ने लोगों से थाली और ताली बजवाया। डॉक्टरों के ऊपर फूल बरसाये तो आम आदमी पार्टी ने भी इनका समर्थन किया।
आरएस यादव ने कहा कि समाजवादवादी पार्टी गांव गरीब किसान नौजवान महिला और दबे कुचले मजलूमों की लड़ाई को तेज करेगी। ईमानदार को गरीब बनाने वाली इन ताकतों पर हम सब मिलकर जोरदार प्रहार करेंगे। इनको सत्ता से बाहर करके ही समाज में पैदा हुए आज के संकट का समाधान निकाला जा सकता है। ये लोग तानाशाह हैं। इनको मजलूमों के कष्ट से कोई लेना-देना नहीं है। हमारे नेताजी अखाड़े के पहलवान रह चुके हैं। अखाड़ों से सीखे गये दांव-पेंच का उन्होंने राजनीति में बखूबी इस्तेमाल किया है। उन्होंने जमीन से जुड़कर राजनीति की है।
इस अवसर पर समाजवादी पार्टी दिल्ली प्रदेश के नेता रामप्रकाश गौतम, करन यादव, सौरभ यादव, खुशी सिंह, प्रदीप कुमार गुर्जर, प्रमोद कुमार, सोनू पहलवान, हरिहर यादव, अजय चैधरी, नितिन कुमार, पंडित विशाल शर्मा और अंशुल कुमार सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
(समाप्त…/)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें