घाटमपुर: बच्ची की निर्मम हत्या का सीएम योगी ने लिया संज्ञान, दी 5 लाख की आर्थिक मदद,

0
9

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर के घाटमपुर क्षेत्र के एक गांव में छह साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शव मिला। बताया जा रहा है कि शव से फेफड़े जैसे भीतरी अंगों को काटकर निकाला गया और चेहरे पर नुकीले हथियार से वार किए गए। बच्ची के साथ हुई इस नृशंस वारदात ने सबको हिलाकर रख दिया है। इस घटना का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। उन्होंने बच्ची के परिवार के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की। साथ ही, पुलिस को इस घटना के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने कहा कि इस घटना की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी ताकि दोषियों को जल्द से जल्द सजा मिल सके।

उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए योगी सरकार ने मिशन शक्ति चला रखा है लेकिन कानपुर के घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव में हुई इस घटना से पता चलता है कि अपराधी कितने बेखौफ हैं। भदरस गांव में शनिवार की शाम को करन कुनील की छह साल की बेटी श्रेया घर के बाहर खेलते समय लापता हो गई। दिवाली की शाम जब घर के लोग त्यौहार की तैयारी में व्यस्त थे, ऐसे में बेटी को कौन ले गया, परिजनों को पता नहीं चला। जब बेटी नहीं लौटी तो परिजनों ने उसको रातभर खोजा।

रविवार की सुबह गांव के सरसों के खेत में बच्ची की क्षत-विक्षत लाश मिली। शव के पास काफी खून बिखरा था और नमकीन के पैकेट भी फेंके हुए थे। शव से काटकर अंगों को निकाला गया था। पैरों में रंग लगाया गया था जिससे लोग तंत्र-मंत्र की आशंका जता रहे हैं। बच्ची का शव मिलने के बाद परिजन और ग्रामीण आक्रोशित हो गए। सैकड़ों लोग घटना का विरोध करते हुए कहने लगे कि जब तक आलाधिकारी नहीं आएंगे, शव को उठने नहीं दिया जाएगा। सूचना पाकर मौके पर घाटमपुर पुलिस पहुंची। इस मामले में पुलिस ने बताया कि कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। बच्ची के परिजनों से मिलने घाटमपुर उपचुनाव में विजयी हुए भाजपा विधायक उपेंद्र पासवान पहुंचे। उन्होंने बच्ची के पिता के हाथों में सरकार की तरफ से पांच लाख रुपए का चेक दिया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें