चंदौली: किसानों ने लिया फसल के अवशेष न जलाने की शपथ

0
34

सकलडीहा। स्थानीय विकास खण्ड के खड़ेहरा गांव स्थित अमर ज्योति सेवा केन्द्र पर शनिवार को क्षेत्रीय किसानों को जागरूक करने के लिए एक किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान उप कृषि निदेशक राजीव कुमार भारती ने कहा कि पर्यावरण को सुरक्षित रखने और मृदा में पोषक तत्व को बनाये रखने के लिए धान की फसल का अवशेष खेतों में नहीं जलाना चाहिए। वहीं कृषि वैज्ञानिक डॉ.समीर पांडेय ने अपने सम्बोधन में किसानों को बताया कि अपनी उपज बढ़ाने के लिए कृषि से जुड़े सुविधाजनक योजनाओं को जानना बहुत जरूरी है। इसके अलावा खेती करने के दौरान हर किसान बीज शोधन का उपयोग करे। वहीं फसलों को बचाने के लिए कीटनाशक दवाओं के साथ ही जैविक कीट नियंत्रण का उपयोग करना चाहिए। गोष्ठी में आयी सकलडीहा कोतवाल वंदना सिंह ने किसानों को फसल अवशेष न जलाने की बात कहा। इसके अलावा बताया कि फसल अवशेष जलाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाई करने का प्राविधान है। इसलिए आप सभी लोग कानून का सहयोग करते हुए अवशेष खेतों में न जलाने का काम करें। गोष्ठी का शुभारम्भ दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस दौरान करीब 15 गांवों के 150 किसानों ने भाग लिया था। अंत में संस्था के निदेशक फादर ज्ञान प्रकाश ने आये हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन सुजीत द्वारा किया गया। इस मौके पर संदीप, अनिता, साधना, चिंता, चंद्र ज्योति, शिवशंकर सिंह, जेपी सिंह, राम विजय यादव, ग्राम प्रधान बाबू लाल सहित अन्य रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें