दो मंजिला फर्नीचर शोरूम में लगी भीषण आग, करोड़ो का नुकसान

0
65

लपटों से इलाके में हडक़म्प, दो दर्जन से अधिक गाडिय़ों ने घंटो के बाद पाया आग पर काबू
कानपुर, टाटमिल में दो मंजिला फर्नीचर शोरूम में अचानक आग लग गयी। शोरूम भीषण आग लगने से इलाके में हडक़म्प मच गया। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया और आग की लपटें शोरूम के बाहर तक उठने लगी। धधक रहे शोरूम को देख इलाके की बिजली काट दी गयी। इलाकाई लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस फोर्स व दमकल की एक दर्जन से अधिक गाडिय़ों ने करीब पांच घंटे की मश€कत के बाद आग पर काबू पाया। वहीं आग से लाखों का माल जलकर राख हो गया।

स्वरूप नगर निवासी किशन बाबू के पुत्र अनिल गुप्ता व संजय गुप्ता का घंटाघर में बांध-मूझ का काम हैं और टाटमिल चौराहे पर लिविंग कन्सेप्ट नाम से रहन-सहन में उपयोग होने वाले ल‚जरी साज- सज्जा व फर्नीचर का तीन मंजिला शोरूम है। शनिवार की शाम को बंद शोरूम में हंसपुरम निवासी गार्ड सुनील तिवारी ड्यूटी कर रहा था। अचानक शोरूम के निजले खंड से शार्ट सर्किट से लगी आग में धुआं निकलते देख उसके होश उड़ गये। मालिक को फोन मिलाने के बाद केस्को को फोन कर लाइट कटवाई। इलाकाई लोगों की माने तो शाम करीब छह बजे शोरूम में अचानक आग लग गयी। आग ने विकराल रूप लेने के बाद शोरूम के ग्राउंड फ्लोर समेत दो मंजिला को अपने आगोश में ले लिया। शोरूम में प्लास्टिक व लकड़ी के सामान होने के चलते धू-धू कर माल जलने लग गया। फर्नीचर, गद्दे, कालीन, प्लास्टिक की कुर्सिया आदि …वलनशील समान होने पर आग ने विकराल रूप रख लिया। शोरूम से उठती लपटों को देख इलाके में हडक़म्प मचने के बाद लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस व दमकल कर्मियों को दी। भीषण आग लगने की जानकारी पर जाजमऊ, कैंट, फजलगंज, कर्नलगंज, मीरपुर, लाटुशरोड समेत १३ फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां पहुंची। विभिन्न फायर स्टेशनों की करीब दमकल की गाडिय़ों ने मोर्चा संभाला और पानी ख़त्म होने पर दूसरी जगह से पानी भरकर कई चक्कर लगाये।वही केस्कों की इलेक्ट्रिक मशीन से चडक़र तीसरी मंजिल के शीशे के शोरूम को हथौड़े से तोड़ा गया। इसके बाद पानी की बौछार से दमकल कर्मी आग बुझाने में जुटे रहे। वहीं मॉनिटर ब्रांच मशीन की मदद से दमकल कर्मियों ने करीब पांच घंटे की मश€कत के बाद आग पर जैसे-तैसे काबू पाया। मुख्य अग्निशमन अधिकारी एमपी सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया शोरूम में शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका है। वहीं शोरूम का ज्यादातर माल जलने की वजह से लाखों का नुकसान भी हुआ है, जबकि आग बुझाने में दो दर्जन से अधिक गाडिय़ां लगी रही।

पांच साल पहले भी लगी थी आग
कानपुर। टाटमिल, कृष्णा हास्पिटल के बगल में स्थित लिविंग कन्सेप्ट में आग का पांच साल पुराना कन्सेप्ट हैं। पहले भी आग ने भयंकर नुकसान किया था। बीते दिनों से लॉक डाउन में बंद चल रहे शोरूम के तीनों को खण्ड एसी पैक थे। जिससे आक्सीजन जाने व आने की व्यवस्था केवल एसी ही था। ऐसे में आग का प्रमुख कारण क्या है, इसकी जांच होना बाकी हैं। फिलहाल करोड़ो का माल जलकर राख हो गया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें