Saturday, July 11, 2020
होम अन्य एडिशन पटना जिला के प्रसिद्ध तिलकुट एवं अनरसा मिठाई की ऑनलाइन डिलीवरी के लिए...

जिला के प्रसिद्ध तिलकुट एवं अनरसा मिठाई की ऑनलाइन डिलीवरी के लिए करें वर्कआउट: डीएम

विभागीय योजनाओंकी प्रगति की हुई साप्ताहिक समीक्षा

गया। समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में सभी विभागों की योजनाओं की प्रगति की साप्ताहिक समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम मुख्यमंत्री 7 निश्चय योजना अंतर्गत स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की समीक्षाकी गई। समीक्षा में डीआरसीसी के जिला प्रबंधक द्वारा बताया गया कि पूर्व बैच के विद्यार्थियों से स्टूडेंट क्रेडिट कार्डके लिए दूरभाष व अन्य माध्यम से संपर्क किया जा रहा है। जल्द ही इस योजना में तेजी लाई जाएगी, निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के प्रयास जारी है।

मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना की समीक्षा में जिला निबंधन-सह- परामर्श केंद्र के जिला प्रबंधक द्वारा बताया गया कि पूर्व के पास आउट छात्रों की सूची उपलब्ध है। मोबाइल के माध्यम से उनसे संपर्क किया जा रहा है एवं पिछले साल जो बच्चे पास हुए हैं उनकी सूची जिला शिक्षा कार्यालय से अप्राप्त है। जिलाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को पिछले वर्ष पास किए हुए सभी विद्यार्थियों की सूची डीआरसीसी को उपलब्ध कराने का निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी ने इन योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु सभी पंचायत भवनों में दीवार लेखन कराने का निर्देश डीआरसीसी मैनेजर को दिया। जिससे लोगों में जागरूकता आ सके और स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, स्वयं सहायता भत्ता एवं कुशल युवा प्रोग्रामका लाभ उठा सकें। बैठक में डिस्ट्रिक्ट कोआर्डिनेटर स्वच्छता को कोच, अतरी, डुमरिया प्रखंडों में किए गए शौचालय निर्माण के लाभुकों का आधार सीडिंग एवं जियो टैगिंग कराकर उन्हें अविलंब भुगतान कराने का निदेश दिया गया।

जल-जीवन-हरियाली योजनाकी समीक्षा में जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारी एवं मनरेगा के प्रोग्राम पदाधिकारी को सभी जलाशयों जो अतिक्रमण मुक्त नहीं हुए हैं उसे अविलंब अतिक्रमण वाद चलाकर जलाशयों में काम लगाएं। उन्होंने सार्वजनिक कुआं के सर्वेक्षण में तेजी लाने का निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अब तक जितने भी सर्वजनिक तालाब का जीर्णोद्धार नहीं हुआ है, उनमें प्रगति लाये।

बैठक में जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत सभी पदाधिकारी को निर्देश दिया कि यह प्रोग्राम 125 दिन का है इसलिए जिन पदाधिाकारी को जो सेक्टर दिया गया है, उसका डाटा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के पोर्टलपर ससमय अपलोड कराएं। बैठक में जिलाधिकारी ने निदेशक डीआरडीए एवं डीपीओ मनरेगा को कहा कि वैसे वापस लौटने वाले मजदूर जिनका अब तक मनरेगा अंतर्गत जाब कार्ड नहीं बना है उनका जाब कार्ड बनवाएं तथा शत-प्रतिशत वैसे लोगों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराएं।

जिलाधिकारी ने जिला कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया कि गया जिला अंतर्गत मूंग की फसल कितनी मात्र में उपजता है, सभी प्रखंडों से इसका रिपोर्ट प्राप्त करें एवं वर्कआउट करें कि क्या मूंगकी फसल बिहार से बाहर सप्लाई किया जा सकता है या नहीं।

जिलाधिकारी ने जीएम डीआईसी को गया जिला के प्रसिद्ध तिलकुट एवं अनरसा मिठाईको पूरे बिहारमें या अन्य राज्यों में क्या आनलाइन डिलीवरी किया जा सकता है? इसका पैकेजिंग किस अनुरूप रहेगा? इन सभी बिंदुओं पर वर्कआउट करनेका निर्देश दिए।

नल जल योजनाकी समीक्षा में पीएचईडी विभाग के कार्य में काफी धीमी प्रगति को देखते हुए जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को टनकुप्पा, वजीरगंज एवं फतेहपुर में मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल योजनाके कार्यों में तेजी लाने का निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अपने-अपने प्रखंड एवं अनुमंडल क्षेत्रके खराब सड़कों की सूची 24 घंटे के अंदर जिलाधिकारी को उपलब्ध कराएं ताकि रिपोर्ट संबंधित सड़क निर्माण विभाग को भेजा जा सके। जिलाधिकारी ने खराब सड़कों को लेकर सभी पदाधिकारी को फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि यदि कहीं आम जनता द्वारा रास्ता जाम सड़क जाम करने की शिकायत मिलती है, तो उस स्थिति में प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी या अनुमंडल पदाधिकारी फिल्ड में स्पाट पर नहीं जाएंगे बल्कि उनकी जगह पर उस सड़क के जिम्मेदार कार्यपालक अभियंता स्वयं स्पाटपर जाएंगे। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी को निर्देश दिया कि बुधवार एवं बृहस्पतिवार को फील्ड निरीक्षण के दौरान सड़क निरीक्षणको प्राथमिकता देंगे।

बैठक में विधि शाखा के वरीय पदाधिकारी वरीय उप समाहर्ता दुर्गेश नंदिनी ने बताया कि एमजेसी के कुल 22 मामले लंबित हैं। सी डब्ल्यूजेसी की समीक्षा में जिलाधिकारी ने कहा कि पिछले 7 दिनोंमें जिस विभागके मामले (पूर्व से अब तक) में कमी नही आयी है, उस विभागके पदाधिकारीकी सूची तैयार करें। जिलाधिकारीने कहा कि प्लांटेशनका कार्य 1 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है, इसके लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाय। बैठक में जिलाधिकारीने सड़क निर्माण विभाग, खनन विभाग एवं सभी अनुषंगी विभागको कितना कितना प्लांटेशन करना है, इसका रिपोर्ट उपलब्ध करानेके निर्देश दिए।

बैठक में सहायक समाहर्त्ता सौरभ सुमन यादव, अपर समाहर्त्ता मनोज कुमार, निदेशक डीआरडीए संतोष कुमार, सिविल सर्जन बीके सिंह सहित सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

अन्तत: पीछे हटा चीन

डा. श्रीनाथ सहाय गलवानमें ही पीपी-१४ के पास १५ जूनको हिंसक झड़प हुई थी। तबसे भारत और चीनके...

पूर्णत: संदिग्ध है मुठभेड़

विकेश कुमार बडोला जब गुरुवारको वह उज्जैनके महाकालेश्वर मंदिरमें उपस्थित था और मध्य प्रदेश पुलिसने गुप्त सूचनापर उसे...

अद्भुत और अलौकिक होगा श्री काशी विश्वनाथ धाम

अपर मुख्य सचिव कृषि ने मंदिर परिसर का किया निरीक्षण, दर्शन पूजन करने के बाद कॉरिडोर के कार्यों की ली जानकारी

लोगोंकी जागरुकता के लिए सड़क पर उतरी पुलिस

कोरोना से लड़ाईमें प्रशासन का सहयोग करनेकी अपील दो दिवसीय सम्पूर्ण लॉकडाउनके बारेमें एसपी सिटी विकास चन्द त्रिपाठीके...

Recent Comments

Translate »