Saturday, July 11, 2020
होम अन्य एडिशन पटना बिहारशरीफ: विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के साथ बैठक

बिहारशरीफ: विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के साथ बैठक

कोविड-19 को देखते हुए सहायक मतदान केंद्र बढ़ाने पर चर्चा

  • चुनाव में एम-3 ईवीएम एवं वीवीपैट का होगा उपयोग: डीएम

बिहारशरीफ (आससे)। विधानसभा चुनाव की चहलकदमी शुरू हो चुकी है। जिला प्रशासन चुनाव की तैयारियों में जुट चुका है। इसी के तहत सोमवार को जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह ने विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक की।

बैठक में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को बताया गया कि जिला के सभी मतदान केंद्र भवनों का भौतिक सत्यापन कराया गया है। जो मतदान केंद्र भवन जीर्ण शीर्ण हो गए हैं, वहां से मतदान केंद्र को निकटतम उपयुक्त भवन में शिफ्ट किया करने का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से भी शिफ्ट किये जाने वाले मतदान केंद्रों को लेकर विचार विमर्श कर सुझाव लिए गए। प्राप्त सुझावों के आधार पर अंतिम प्रस्ताव आयोग को भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए आयोग द्वारा एक हजार से अधिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों के लिए सहायक मतदान केंद्र का प्रस्ताव मांगा गया है। जिला में वर्तमान में 2248 मतदान केंद्र हैं। इनमें से 920 मतदान केंद्रों में एक हजार से अधिक मतदाता हैं। इन मतदान केंद्रों के लिए सहायक मतदान केंद्र का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। इस संबंध में भी सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से विचार विमर्श कर सुझाव लिया गया जिसके आधार पर अंतिम प्रस्ताव आयोग को भेजा जा रहा है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए बताया कि इस बार चुनाव में एम-3 मॉडल के ईवीएम एवं वीवीपैट का उपयोग किया जाएगा। जिला में अब तक विभिन्न राज्यों से इस मॉडल के 6300 बैलट यूनिट, 3800 कंट्रोल यूनिट एवं 5400 वीवीपैट प्राप्त हो चुके हैं। ईवीएम के एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) का कार्य बेल के इंजीनियर द्वारा 25 जून से सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया जा रहा है।

सभी राजनीतिक दलों को बूथ लेवल एजेंट (बीएलए) की नियुत्तिफ़ कर अद्यतन सूची निर्वाचन शाखा में उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया।

उन्हें बताया गया कि मतदाता सूची के सतत अद्यतिकरण का कार्य जारी है। इस सूची में नाम जोड़ने, हटाने एवं संशोधन करने के लिए कार्रवाई की जा रही है। सभी प्रतिनिधियों को अपने स्तर से भी सतत अद्यतिकरण प्रक्रिया के तहत मतदाताओं का नाम जोड़ने, हटाने एवं संशोधन कराने हेतु अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने का अनुरोध किया गया।

बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सहित सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी, उप निर्वाचन पदाधिकारी, इंडियन नेशनल कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, जनता दल यू, राष्ट्रीय जनता दल, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया, बहुजन समाज पार्टी सहित अन्य राजनीतिक दलों के जिलाध्यक्ष, सचिव एवं प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

अन्तत: पीछे हटा चीन

डा. श्रीनाथ सहाय गलवानमें ही पीपी-१४ के पास १५ जूनको हिंसक झड़प हुई थी। तबसे भारत और चीनके...

पूर्णत: संदिग्ध है मुठभेड़

विकेश कुमार बडोला जब गुरुवारको वह उज्जैनके महाकालेश्वर मंदिरमें उपस्थित था और मध्य प्रदेश पुलिसने गुप्त सूचनापर उसे...

अद्भुत और अलौकिक होगा श्री काशी विश्वनाथ धाम

अपर मुख्य सचिव कृषि ने मंदिर परिसर का किया निरीक्षण, दर्शन पूजन करने के बाद कॉरिडोर के कार्यों की ली जानकारी

लोगोंकी जागरुकता के लिए सड़क पर उतरी पुलिस

कोरोना से लड़ाईमें प्रशासन का सहयोग करनेकी अपील दो दिवसीय सम्पूर्ण लॉकडाउनके बारेमें एसपी सिटी विकास चन्द त्रिपाठीके...

Recent Comments

Translate »