कानपुर में तीन और कोरोना पॉजिटिव, संख्या 195

0
97

पांच संदिग्ध रोगियों की इलाज के दौरान हुई मौत, रिपोर्ट का इंतजार
सरसौल सीएचसी से २० संक्रमित रोगी स्वस्थ होने के बाद गये घर
हलीम कालेज संग जाजमऊ के बीमा अस्पताल बने क्वारंटाइ सेंटर
कानपुर, शहर में हॉटस्पॉट इलाको में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की कोविड लैब की रिपोर्ट में सोमवार को तीन और लोगों में कोरोना संक्रमित होने की रिपोर्ट आई है। इसमें मुन्नापुरवा, बाबूपुरवा एवं गड़रिया मोहाल इलाके के मामले हैं। आज संक्रमितों की संख्या 195 पहुंच गई है, जिसमें से पांच संदिग्ध रोगियों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है। फिलहाल अभी मृतकों की रिपोर्ट आना शेष है। वहीं रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुये प्रशासन ने हलीम कालेज संग जाजमऊ ईएसआई हॉस्पिटल को क्वारंटाइन सेंटर बनाया है। इसी बीच एक अ‘छी खबर भी आयी कि सरसौल सीएचसी में भर्ती २० संक्रमित स्वस्थ होने के बाद घर भेज दिये गये है।
सोमवार सुबह तक हैलट के कोविड-19 हॉस्पिटल के आइसीयू में पांच कोरोना संदिग्ध मरीजों की मौत हो गई, उनकी जांच रिपोर्ट अभी आनी शेष है। सीएमओ डॉ. अशोक शु€ला ने बताया कि मेडिकल कॉलेज की कोविड-१० लैब से 148 नमूनों की जांच रिपोर्ट आई है, जिसमें तीन में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई हैं। इनमें गड़रिया मोहाल, बाबू पुरवा एवं मुन्नापुरवा के रहने वाले लोग है। सभी को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। वहीं उन्नाव में एक और कोरोना संक्रमित मामला आने पर वहां सतर्कताबढ़ा दी गई है। बताते चले कि कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। अभी तक १७ महिलाएं वायरस की जद में आ चुकी है वहीं ४३ बच्चे भी संक्रमण से बच न सके है। शहर में सोमवार को तीन में संक्रमण मिलने परकुल संख्या 192 पहुंच गई हैं। इनमें तीन की मौत हो चुकी है और सात लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। इस तरह मौजूदा समय में 182 एक्टिव केस हैं। सीएमओ डॉ.अशोक शु€ला का कहना है कि लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने से मामले बढ़े है। वहीं नोडल अधिकारी एवं लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने कहा कि संदिग्ध का सैंपल लेने के बाद उसे छोड़ना रिस्क है। जब तक रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाएगी संदिग्ध व्यक्ति को भी क्वारंटाइन किया जाएगा। वहीं बढ़ते मामलों को देखते हुए हलीम कालेज और जाजमऊ में ईएसआई हॉस्पिटल को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। इस भयावह स्थिति में सरसौल सीएचसी से एक अ‘छी खबर भी आई है। दरअसल वहां २१ संक्रमित लोग भर्ती थे, जिनमें २० संक्रमितों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें