‘वोट कटवा’ कहने पर चिराग का BJP पर पलटवार, पूछा- अब तक साथ क्यों रखा?

0
14

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) की वोटिंग के लिए कुछ दिन ही बचे हैं लेकिन राजग से अलग हुए एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) और बीजेपी (BJP) के बीच बयानबाजी शुरू हो गई है। दरअसल भाजपा नेताओं ने शुक्रवार को लोजपा पर चौतरफा हमला बोला। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ( Prakash Javadekar) ने एलजेपी को ‘वोट कटवा’ पार्टी करार दिया। केंद्रीय मंत्री के बयान पर अब चिराग पासवान ने पलटवार करते हुए सवाल किया कि अगर लोजपा वोट कटवा है तो बीजेपी ने पहले साथ क्यों रखा? बता दें कि चिराग पासवान ने एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए यह बात कही है।

‘नीतीश CM बने तो NDA में नहीं रहूंगा’
लोजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘अगर मेरी पार्टी वोट कटवा पार्टी हैं तो बीजेपी से 2014 से साथ क्यों रखा है?’ इसके साथ ही पासवान ने दावा किया कि बीजेपी के नेता नीतीश कुमार के दबाव में ऐसे बयान दे रहे हैं। उन्हें अपने विवेक का इस्तेमाल करना चाहिए। चिराग पासवान ने एक बार फिर कहा कि अगर नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनते हैं तो वह एनडीए का हिस्सा नहीं रहेंगे।

बीजेपी और एलजेपी की बनेगी सरकार
जेडीयू के खिलाफ 143 सीटों के साथ चुनाव लड़ रहे चिराग पासवान ने कहा कि पीएम मोदी ने मेरे पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान को हमेशा सम्मान दिया है। मैं भी पीएम मोदी का सम्मान करता हूं और पूरे दिल के उनके साथ हूं। मैं पीएम मोदी के साथ हूं पर जेडीयू के खिलाफ हूं। इसलिए हम जेडीयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारेंगे और हम जीतते हुए बीजेपी और एलजेपी की सरकार बनाएंगे।

भाजपा की कोई ‘बी, सी या डी टीम’ नहीं
अपने आवास पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘चिराग पासवान ने बिहार में अपना अलग रास्ता चुना है और वो हमसे अलग होकर चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का नाम लेकर वह भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। यह झूठी बयानबाजी सफल नहीं होगी।’ उनके इन प्रयासों की निंदा करते हुए जावड़ेकर ने स्पष्ट किया कि बिहार चुनाव में भाजपा की कोई ‘बी, सी या डी टीम’ नहीं है।

लोजपा को कहा ‘वोट कटवा’ पार्टी
उन्होंने कहा, ‘हमारी एक ही मजबूत टीम है और वह है..भाजपा, जद(यू), हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी)। चार दलों का हमारा गठबंधन राजग मजबूती से चुनाव लड़ रहा है। तीन चौथाई बहुमत से विजयी होगी और हम कांग्रेस, राजद और माले के अपवित्र गठबंधन को हराएंगे।’ उन्होंने कहा, ‘चिराग की पार्टी एक वोट कटवा पार्टी रह जाएगी। बहुत ज्यादा असर नहीं नहीं डाल सकेगी चुनाव पर। हम साफ करना चाहते हैं कि दूर-दूर तक हमारा कोई रिश्ता नहीं है। भ्रम की राजनीति हमें पसंद नहीं है।’

भाजपा और लोजपा के बीच अंदरूनी साठगांठ
‘वोट कटवा’ का प्रयोग सामान्यत: उस राजनीतिक दल या उम्मीदवार के लिए किया जाता है जो चुनाव तो नहीं जीत सकता लेकिन वोट काटकर किसी दूसरे दल के प्रत्याशी का हरा सकता है। उल्लेखनीय है कि लोजपा के नेता और चिराग पासवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तारीफ करते रहे हैं जबकि नीतीश कुमार पर वह निशाना साधते रहते हैं। इसकी वजह से चर्चा आम है कि भाजपा और लोजपा के बीच अंदरूनी साठगांठ हैं।

राजग से LJP ने खुद को किया अलग
गौरतलब है कि चिराग पासवान ने गुरुवार को कहा था कि बिहार में विधानसभा चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जद (यू) से अलग होने में कोई संबंध नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया था कि नीतीश कुमार ने उनके पिता का राज्यसभा चुनाव के दौरान अपमान किया था। चिराग ने कहा था कि उन्होंने जदयू के खिलाफ विद्रोह नहीं किया। बल्कि पार्टी ने गठबंधन के साथियों को उचित हिस्सा देने से इनकार कर दिया था। बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर (71 सीटों), 3 नवंबर (94 सीटों) और 7 नवंबर (78 सीटों) पर होगा। मतगणना 10 नवंबर को होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें